Uttar Pradesh Exclusive > उत्तर प्रदेश > बाबरी विध्वंस फैसले का सीएम योगी ने किया स्वागत, कांग्रेस पर लगाया बड़ा आरोप

बाबरी विध्वंस फैसले का सीएम योगी ने किया स्वागत, कांग्रेस पर लगाया बड़ा आरोप

0
165
  • उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बाबर विध्वंस फैसले का किया स्वागत
  • ट्वीट कर लिखा सत्यमेव जयते!
  • कांग्रेस पर सीएम योगी ने लगाया गंभीर आरोप
  • कहा राजनीतिक पूर्वाग्रह की वजह से भाजपा और विहिप के नेताओं को फंसाया गया

बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में 28 साल बाद सीबीआई की विशेष अदालत ने आज अपना फैसला सुना दिया है. सीबीआई की विशेष अदालत ने अपना फैसला सुनाते हुए तमाम 32 आरोपियों को बरी कर दिया.

कोर्ट ने माना कि विवादित ढांचा गिराने की घटना पूर्व नियोजित नहीं थी. ये घटना अचानक हुई थी.

कोर्ट के इस फैसले का उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वागत किया है.

सीएम योगी ने ट्वीट कर फैसले का किया स्वागत

सीबीआई की विशेष अदालत का फैसला आने के बाद उन्होंने ट्वीट कर लिखा “सत्यमेव जयते! CBI की विशेष अदालत के निर्णय का स्वागत है.

तत्कालीन कांग्रेस सरकार द्वारा राजनीतिक पूर्वाग्रह से ग्रसित हो पूज्य संतों, @BJP4India नेताओं, विहिप पदाधिकारियों, समाजसेवियों को झूठे मुकदमों में फँसाकर बदनाम किया गया.

इस षड्यंत्र के लिए इन्हें जनता से माफी मांगनी चाहिए.”

कोर्ट का फैसला आने के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि राजनीतिक पूर्वाग्रह होने की वजह से कांग्रेस ने झूठे आरोपों के तहत भाजपा नेता और विहिप से जुड़े लोगों को फंसाया था. लेकिन अब कोर्ट का फैसला आ गया है. इसलिए ऐसे लोगों को जनता से माफी मांगनी चाहिए.

ये थे आरोपी

आरोपियों में वरिष्ठ भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, कल्याण सिंह, उमा भारती, महंत नृत्य गोपाल दास, साध्वी ऋतम्भरा, चम्पत राय, विनय कटियार, राम विलास वेदांती, महंत धरम दास, पवन पांडेय, ब्रज भूषण शरण सिंह, साक्षी महाराज,सतीश प्रधान, आरएन श्रीवास्तव, तत्कालीन डीएम, जय भगवान गोयल, रामचंद्र खत्री , सुधीर कक्कड़, अमरनाथ गोयल, संतोष दुबे, प्रकाश शर्मा, जयभान सिंह पवैया, धर्मेंद्र सिंह गुर्जर, लल्लू सिंह, वर्तमान सांसद, ओम प्रकाश पांडेय, विनय कुमार राय, कमलेश त्रिपाठी, गांधी यादव, विजय बहादुर सिंह, नवीन शुक्ला, आचार्य धर्मेंद्र, रामजी गुप्ता के नाम शामिल थे.