Uttar Pradesh Exclusive > देश - विदेश > बड़ी खबर: अब रेल यात्रियों को मिलेंगी ये सारी सुविधाएं

बड़ी खबर: अब रेल यात्रियों को मिलेंगी ये सारी सुविधाएं

0
372
  • भारतीय रेलवे बहुत जल्द अपनी वेबसाइट को नया रूप देगी
  • यात्रियों को संभावित ट्रेन की पूरी जानकारी भी दी जायेगी

देश में फैले कोरोना संक्रमण को देखते हुए भारतीय रेलवे बहुत जल्द अपनी वेबसाइट को नया रूप देने वाला है. अगस्त से टिकिट बुकिंग वेबसाइट को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल करते हुए और अधिक बेहतर बनाया जाएगा। रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष वीके यादव ने एक वेब-बेस्ड कॉन्फ्रेंस में कहा कि इससे पैसेंजर को बेहतर सेवा उपलब्ध हो सकेगी। साथ ही यात्रियों को संभावित ट्रेन की पूरी जानकारी भी प्राप्त होगी। यादव ने कहा कि संक्रमण को और अधिक फैलने से रोकने के लिए फिलहाल जो अभी 230 ट्रेन चल रही हैं वही चलेंगी। उनके अतिरिक्त अन्य कोई ट्रेन चलाने की रेलवे बोर्ड कोई योजना नहीं है।

उन्होंने आगे कहा कि लगभग ज्यादातर ट्रेनों में कन्फर्म टिकट ही मिल रहे हैं और जहां तक वोटिंग लिस्ट की बात है वो 230 ट्रेनों में से 58 ट्रेन में देखने को मिल रहे हैं। हालांकि 58 ट्रेन में भी 3-4 दिन के अंदर कन्फर्म टिकट मिल जा रहे हैं। यादव ने कहा कि रेलवे विशिष्ट मार्गों पर अधिक ट्रेनें तभी चलाएगा, जब वेटिंग लिस्ट 10-15 दिन का देखा जाएगा। प्रवासियों को उनके घरों तक ले जाने के लिए 1 मई से रेलवे ने जो श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाई थी अब उनकी डिमांड कम होने लगी हैं। आखिरी ट्रेन 9 जुलाई को चलाई गई थी, जिसके बाद ऐसी ट्रेनों की कोई मांग नहीं रही।

डिजिटल उपायों को मिल रहा बढ़ावा

रेलवे ने कुछ ही समय में डिजिटल शुरुआत की है, जैसे क्यूआर-आधारित टिकट, ई-फाइलिंग सिस्टम आदि। बता दें कि भारतीय रेलवे क्यूआर कोड वाले संपर्क रहित टिकट देने की योजना बना रहा है जिन्हें स्टेशन और ट्रेनों पर मोबाइल फोन से स्कैन किया जा सकेगा. रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष वी के यादव ने कहा कि वर्तमान में ट्रेन के 85 प्रतिशत टिकट ऑनलाइन बुक होते हैं और काउंटर से टिकट खरीदने वालों के लिए भी क्यूआर कोड की व्यवस्था की जाएगी।

एयरपोर्ट की तरह मिलेंगी सुविधा एयरपोर्ट की तरह ही रेलवे भी क्यूआर कोड वाले संपर्क रहित टिकट देने की योजना बना रहा है। ट्रेन टिकट बुक करते समय रेलवे की ओर से एक क्यूआरकोड यात्री के मोबाइल पर भेजा जाएगा। स्टेशन में दाखित होते समय या ट्रेन में यात्रा के दौरान टिकट चेंकिंग के समय यात्रियों को उपलब्ध कोड के लिए क्लिक करना होगा। ऐसा करते ही यात्री के मोबाइल ब्राउजर पर क्यू.आर. कोड दिखने लगेगा।